Thursday, June 19, 2008

I Got My First Promotion

पिछले एक सप्ताह से लगभग रोज ही मैं और मेरे कालेज कि मित्र मनस कभी एच.आर. तो कभी अपने पी.एल. से बोल रहे थे कि हमारे अप्रैजल का समय आ गया है तो हमें अभी तक अप्रैजल क्यों नहीं मिला है? एच.आर. वालों से तो मैंने लगभग झगड़ा तक कर लिया था कि जब आपको कोई काम समय पर चाहिये होता है तो हम खाना-सोना छोड़ कर बस काम करते रहते हैं, तो ये काम आप लोगों का है कि हमें समय पर अप्रैजल मिले.. हमें जो भी काम मिलता है उससे आपको भी कोई मतलब नहीं होता है कि वो काम हम कैसे खत्म करें ठीक उसी तरह मुझे भी कोई फर्क नहीं परता है कि आप इसे कैसे खत्म करते हैं.. हमें भी अपनी चीज समय पर चाहिये..

खैर हमारी मेहनत रंग लायी और आज (पूरे 1 सप्ताह देरी से ही सही) अप्रैजल मिल गया.. अपने जीवन का पहला प्रोमोशन.. मुझे जब उससे संबंधी कागजात दिये जा रहे थे तब मुझसे पूछा गया उसके बारे में.. मेरा जवाब था की मैं खुश हूं क्योंकि ये मेरा पहला प्रोमोशन है, मगर मैं संतुष्ट नहीं हूं क्योंकि सैलेरी हाईक मेरी उम्मीदों पर खड़ा नहीं उतरा है.. खैर जो भी हो.. फिलहाल तो प्रोमोशन मिल गया.. :)

मैं आजकल बहुत व्यस्त हूं इसलिये "जब अल्लाह मेहबान तो गधा पहलवान" कि अंतिम कड़ी नहीं लिख पा रहा हूं.. अगली पोस्ट में ही उसे पूरा कर दूंगा.. मगर मुझे पता नहीं कब..

19 comments:

  1. बहुत बहुत बधाई पहले प्रमोशन की.. मिठाई की फोटो भी डाल जाते पोस्ट में तो हम उसी से काम चला लेते..

    ReplyDelete
  2. प्रशांत आपको पहले प्रमोशन की बहुत-बहुत बधाई ।

    ReplyDelete
  3. बधाई। अल्लाह सही में मेहरबान हैं।

    ReplyDelete
  4. promotion ki bahut bahut badhai....

    ReplyDelete
  5. अरे बधाई हो भाई !.... अल्लाह मेहरबान वाली श्रृंखला आज पढ़ी ... अच्छी लगी ... अगली कड़ी ले आइये.

    ReplyDelete
  6. अल्लाह मेहरबान होता ही है मेहनत करने वालों पर।
    आप को बधाई!
    हमारी मिठाई?

    ReplyDelete
  7. प्रशांत बधाई ही बधाई है भाई...अच्छा लगा जानकार.

    ReplyDelete
  8. अरे बधाई हो.......अल्लाह सही में मेहरबान हैं।
    हमारी मिठाई?

    ReplyDelete
  9. बहुत बहुत बधाई हमारी ओर से भी. अगली बार हाइक भी मन मुताबिक मिलेगी. शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  10. बधाई पहले प्रमोशन की.

    ReplyDelete
  11. बहुत बहुत बधाई पहले प्रमोशन की. अनेकों शुभकामनाऐं.

    ReplyDelete
  12. बंधु, अपने कैंपस में तो पुराना नियम चलता आ रहा है, चड्डी खरीदोगे तो भी पार्टी देनी होगी और नौकरी मिलेगी तो भी। तुम्हारा तो प्रोमोशन हुआ है। दिल्ली आने पर ये उधार तुम्हारा इंतजार करेगा।
    ढ़ेर सारी बधाई क्योंकि प्रोमोशन से उत्साह बना रहता है नहीं तो लगता है नौकरी के नाम पर हम ढो रहे हैं।

    ReplyDelete
  13. अजी छोडि़ये गधे की, अपनी पहलवानी दुरुस्‍त रखिए। प्रमोशन की बहुत बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  14. बधाई हो पहलवान!आगे के लिये शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  15. पहला प्रमोशन है भाई,
    स्वीकारें हमारी बधाई,
    लेकिन कहाँ है मिठाई?

    ReplyDelete
  16. आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद.. और रही बात मिठाई कि तो जैसे-जैसे आप लोगों से कहीं भी मिलूंगा, वैसे-वैसे मिठाई आप लोगों को मिलती जायेगी.. :)

    ReplyDelete
  17. देर से ही सही, हार्दिक बधाई।
    बेंगळूरु आते हीं हम से जरूर मिलना।
    पता और टेलिफ़ोन नंबर तो है तुम्हारे पास।
    साथ में मिठाई भी लाना न भूलना!!
    एक पैकट पदोन्नति के लिए।
    हम अनुभवी लोग हैं। तुम्हारी जून २१ की कविता से रोमांस, और शादी का संकेत मिल रहा हैं हमें।
    यदि शादि का मामला सचमुच फ़िट हो गया तो दूसरा पैकेट भी साथ ले आना।
    गोपालकृष्ण विश्वनाथ, जे पी नगर, बेंगळूरु

    ReplyDelete