Sunday, July 04, 2010

धोनी की घोड़ी, पहली बार सिर्फ इस ब्लॉग पर

आज मैं लेकर आया हूँ उस घोड़ी को जिस पर धोनी सवार होकर मंडप तक गए!! एक्सक्लूसिव, सिर्फ और सिर्फ, इसी ब्लॉग पर!! हमारे संवाददाता लगातार बने हुए हैं देहरादून से.. तो चलिए चलते हैं वहां..

संवाददाता : आप ही वह घोड़ी हैं जो धोनी को लेकर मंडप तक गई थी, तो बताईये कैसा महसूस हो रहा है?

घोड़ी : हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!

संवाददाता : तो आप देख रहे हैं, यह घोड़ी कितनी उत्साहित है!! उत्साह इतना कि समेटे ना समेटा जा सके.. मुंह से बोल तक नहीं फूट पा रहे हैं..
घोड़ी से, "सुना है कि रैना आपके आगे-आगे नाच रहे थे?"

घोड़ी : हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!

संवाददाता : तो आप देख ही रहे हैं कि यह घोड़ी, कितनी खुश है धोनी को मंडप तक पहुंचा कर.. हिन् हिन् बोलते वक्त कैसे इसके सरे दाँत दिख रहे थे, मानो खुशी से पागल हुई जा रही हो यह घोड़ी.. कैसी सजी-धजी घोड़ी है, यह आप देख ही रहे हैं..
घोड़ी से, "क्या आप बता सकती हैं कि धोनी ने उस वक्त किस तरह के कपडे पहन रखे थे?"

घोड़ी : हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!

संवाददाता : देख कर तो ऐसा लग रहा है जैसे यह घोड़ी भी नाचना चाह रही हो..
घोड़ी से, "क्या आप बता सकती हैं कि इस शादी का धोनी पर दवाब था या नहीं? उनका वजन अधिक था या कम?"

घोड़ी : हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!

संवाददाता : तो आप देख रहे हैं कि इस घोड़ी को धोनी का वजन अधिक था या कम, इससे कोई मतलब नहीं है.. वह तो खुश है कि धोनी को अपनी पीठ पर बिठा कर मंडप तक ले गई.. सीधे घोड़ी के पास से मैं संवाददाता अंट-संट "मेरी छोटी सी दुनिया के लिए..

तो आपने देखा, कैसे हमारे संवाददाता ने यह एक्सक्लूसिव खबर सीधे घोड़ी के पास से लाकर दी है.. बाकी खबरनबीस तो घोड़ी के मालिक या लौंड्री के मालिक के पास ही भटक कर रह गए, मगर यह उससे बेखबर रह गए जिसे धोनी को छूने का, अपने ऊपर सवारी कराने का मौका मिला था..

37 comments:

  1. गजब........मजा आ गया.........

    ReplyDelete
  2. बस हम इसी का इंतज़ार कर रहे थे ;)

    ReplyDelete
  3. ऐ संवाददाता अंट-संट ....गज़ब का मस्त लग रहा है ई घोड़ी का हिन् हिन् हिन् :P

    ReplyDelete
  4. लगता है यह संवाददाता ईनाम लेकर रहेगा।

    ReplyDelete
  5. हा हा! मस्त रहा!

    ReplyDelete
  6. मजेदार .............
    आजकल के चेनल यही सब दिखा रहे है !

    ReplyDelete
  7. .
    .
    .
    हा हा हा हा,
    आनंद आया पढ़कर घोड़ी की मजेदार बातों को...

    आपका आभार,
    हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!
    .... ;)

    ...

    ReplyDelete
  8. मीडिया पर बढ़िया व्यंग.. :):)

    ReplyDelete
  9. अब कैलकुलेशन लगाओ कि टीआरपी कितनी बढी?

    ReplyDelete
  10. ब्रेकिंग व्यूज? :)

    ReplyDelete
  11. मजेदार. आभार.

    ReplyDelete
  12. कमाल है! आपने तो पूरी की पूरी एक्सक्लूसिव खबर बिना ब्रेक के दे डाली. अजी चैनल वालों की कमाई के बारे में भी कुछ सोचिए. ऎसे तो उनकी लुटिया डूब जाएगी :)

    ReplyDelete
  13. शादी-वादी का तो पता नहीं पर हां, धोड़ी बहुत अच्छी है.

    ReplyDelete
  14. हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् हिन् !!!!

    ReplyDelete
  15. एकदम झकास।

    ReplyDelete
  16. इतनी योग्य घोड़ी को टीवी डिबेट के पैनलों में भेजना प्रारम्भ करे, समस्यायें सुलझने लगेंगी ।

    ReplyDelete
  17. हा हा हा ..गज़ब ..सॉलिड...हास्य में व्यंग का जबरदस्त तडका.

    ReplyDelete
  18. mjedar raha lga ghodi ka hinhinana .achha sakshatkar .

    ReplyDelete
  19. hin hin hin hin hin!

    wah janab wah! wah wah wah.mast post.

    main dehradun se hoon.aaj local paoper main isi ghodi ki tasweerain chhayi hai

    ReplyDelete
  20. यह भी एक अन्दाज है लिखने का. बधाई हो.

    ReplyDelete
  21. घोड़ी तो एक्स्पर्ट है इंटरव्यू देने में।

    ReplyDelete
  22. हमारी आज की प्रेस का यही स्तर है. ये इसी में खुश है. ये इसी में खुद को खोजी पत्रकार समझ रहे हैं. आपने बहुत ही सटीक लिखा है. बेगानी शादी में अब्दुला दीवाना वाली बात है.

    ReplyDelete
  23. हम तो कल से ही कम्प्युटर खोले बैठे थे और इंतज़ार में थे कि कब आपकी एक्सक्लूसिव रिपोर्ट आये. आभार
    जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

    ReplyDelete
  24. BREAKING NEWS अभी अभी :
    घोड़ी ने स्पष्ट किया है कि टट्टू नस्ल से ताल्लुक रखती है,
    और उसे घोड़ी करार दिये जाने गँभीर मानसिक आघात पहुँचा है ।
    इस प्रकार एक अतिविशिष्ट अवसर पर उसके पिछड़े वर्ग की अवहेलना कर घोड़ी को श्रेय दिया गया है ।
    बेटा जी, अब आप अग्रिम जमानत लेने की तैयारी कीजिये !

    ReplyDelete
  25. काहे भोरे-भोरे डराते हैं अंकल जी!!

    ReplyDelete
  26. बाबू सच मे यह एक कालजयी पोस्ट है ;)

    ReplyDelete
  27. घोड़े से जुड़ा ऐसा ही एक रोचक साक्षात्कार www.jugaali.blogspot.com पर भी मौजूद है.शायद दोनों घोडियां मिलकर कोई नया ब्लॉग रच सकें.

    ReplyDelete
  28. इसको कहते हैं "करेजा काट" पोस्ट! :D

    ReplyDelete
  29. हा! हा!! हा!!!
    बस ऐसहीं लतियाने का जरूरत है!!
    तनी ई हो देखना...
    http://samvedanakeswar.blogspot.com/2010/07/blog-post_09.html

    ReplyDelete
  30. लो जी धोनी का इंटरव्‍यू नहीं मिला तो घोड़ी का ही ले आए। और वह भी न मिलती तो.....

    ReplyDelete
  31. उत्साही जी, अगर वह भी ना मिलती तो शादी के जूठे पत्तल चाटने वाले कुत्ते तो मिलते ना.. उनसे ही ये जान लिया जाता कि शादी में किस तरह के पकवान बनाए गए थे.. :)

    ReplyDelete
  32. @stuti
    copy paste karna band karo..same comment in pankaj post n prashant post... :D

    ReplyDelete
  33. hahahahaahahhahah......

    bahut badhiya soch....

    ghodi ke ghode se bhi interview pesh hona chahiye tha...

    dono ek sath hote toh aur mazaa aata

    ReplyDelete